यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022: eproc.up.gov.in, ई-क्रय प्रणाली

Author:


उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | Gehu kharid Kisan registration | ई-क्रय प्रणाली पोर्टल | UP Gehun Khareed online Kisan panjikaran | यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण

उत्तरप्रदेश राज्य के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी द्वारा यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण की शुरुवात की गयी है। खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा इसका संचालन किया जाता है। इस योजना के तहत किसान अपनी फसल सही मूल्य पर राज्य सरकार या गवर्नमेंट एजेंसीज को बेच सकेंगे। सरकार ने इस पोर्टल का नाम खाद्य एवं रसद विभाग ई-उपार्जन पोर्टल व ई-क्रय प्रणाली रखा है। किसानों को सबसे पहले पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना है जिसके बाद वह गेहूं की फसल को सरकारी संस्थाओ को 1975 प्रति कुन्तल मूल्य पर बेच सकते है। सरकार ने इस बार 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं किसानों से खरीदने का टारगेट रखा है। रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट eproc.up.gov.in पर जाना होगा।

up gehu kharid kisan online panjikaran
up gehu kharid kisan online panjikaran

उत्तर प्रदेश सरकार किसानो की आय को दोगुनी करने और उनके भविष्य को और सुनहरा करने के लिए तरह-तरह के प्रयास करती रहती है जिससे किसान भाइयो को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। कई बार ऐसा होता है की किसानो को अपनी फसल कम दामों में बेचनी पढ़ जाती है जिससे उन्हें काफी नुकसान झेलना पड़ता है इसी समस्या को देखते हुए सरकार ने इस ऑनलाइन पंजीकरण करने की सुविधा को जारी किया। इससे सम्बंधित जानकारी जैसे: उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद किसान ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें (UP gehun kharid kisan online panjikaran kese karein), पोर्टल बनाने का उद्देश्य, लाभ, किसान पंजीकरण हेतू आवश्यक दस्तावेज, पात्रता आदि जानने के लिए आर्टिकल को नीचे तक पढ़े।

अपडेट- उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली के माध्यम से अभी तक 36.7 लाख मीट्रिक तन गेहूं की खरीद की जा चुकी है। किसान नागरिक ऑनलाइन माध्यम से 15 जून तक अपनी फसल को बेच सकते है। गेहूं की खरीद में किसानों को अभी तक 125.15 करोड़ रूपए का भुगतान किया गया है। इस वर्ष में सबसे अधिक गेहूं की खरीद पोर्टल में ऑनलाइन माध्यम से की गयी है किसानों की सुविधा हेतु उत्तर प्रदेश सरकार के माध्यम से मंडियों में अपनी फसल पहुंचाने हेतु किसानों के लिए टोकन की सुविधा उपलब्ध की गयी है। जिसमें किसान अगर गेहूं खरीद केंद्रों में स्वयं उपस्थित नहीं हो सकता है तो वह अपने परिवार के किसी अन्य सदस्य को केंद्रों में भेज सकते है।

Table of Contents

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022

उत्तर प्रदेश सरकार अप्रैल महीने से किसानो से गेहूं मार्किट प्राइस पर खरीदेगी आपको बता दें की 15 जून तक गेहूं की खरीद संस्थाओं द्वारा की जाएगी। किसान अपनी गेहू की फसल को अब 1975 प्रति कुन्तल समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। 72 घंटे के अंदर ऑनलाइन पंजीकरण किसानो के खाते में फसल का भुगतान कर दिया जायेगा जिसके लिए किसानो का स्वयं का खाता होने बहुत जरुरी है जो की आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है। हर जिले में 6000 क्रय केंद्र गेहू खरीदने के लिए सरकार द्वारा खोले जायेंगे। किसान एक बार में 100 किलो कुन्तल गेहू बेचने तक के लिए टोकन खरीद सकते है। 1 टोकन प्राप्त करने के बाद अगला टोकन लेने के लिए हप्ते भर का इन्तजार करना होगा।

राज्य उत्तर प्रदेश
साल 2022
योजना उत्तर प्रदेश गेहू खरीद
के द्वारा राज्य सरकार द्वारा
विभाग खाद्य एवं रसद विभाग
पोर्टल ई-क्रय प्रणाली, ई-उपार्जन पोर्टल
लाभ लेने वाले किसान लोग
उद्देश्य किसानो के द्वारा रबी फसलों को मार्किट प्राइस मूल्य पर देना
प्रक्रिया ऑनलाइन मोड
आधिकारिक वेबसाइट https://eproc.up.gov.in
टोल फ्री नंबर 18001800150

यूपी गेहूं खरीद किसान योजना का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य यह है कि कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन की वजह से किसान लोगो को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा है उन्हें अपनी फसल को बेचने के लिए बहुत दिक्कते उठानी पड़ी है और वह अपनी फसलों को कम दामों में बेचने पर मजबूर हो गए थे। इसी को देखते हुए सरकार ने ऑनलाइन पोर्टल की शुरुवात की जिसके माध्यम से किसान पंजीकरण करवा कर अपनी फसल समर्थन मूल्य पर बेच सके और उन्हें किसी भी प्रकार का नुकसान न हो। पोर्टल के जरिये किसान अपनी फसल आसानी से बेच देंगे और उन्हें 72 घंटे में गेहूं की फसल का भुगतान मूल्य बैंक अकाउंट में मिल जायेगा।

E-क्रय प्रणाली पोर्टल सम्बंधित जानकारी

  1. पोर्टल के जरिये किसान अपना रजिस्ट्रेशन आसानी से ऑनलाइन माध्यम द्वारा करवा सकते है।
  2. पंजीकरण करने के पश्चात वह 100 कुंतल गेहू खरीद के लिए टोकन प्राप्त कर सकते है जिसके माध्यम से जब उनकी गेहू बेचने की बारी आएगी उसी समय वह केंद्र पर जा सकते है।
  3. टोकन के जरिये अब किसानो को घंटो बैठकर अपनी बारी का इंतजार नहीं करना होगा।
  4. पोर्टल के जरिये ऑनलाइन पंजीकरण करने से उनका समय और पैसे दोनों की बचत हो पायेगी।
  5. सरकार ने इस साल 2022 में गेहूं खरीदने के लिए 6000 क्रय केंद्र बनवाये है।
  6. संस्थाओ एवं राज्य सरकार द्वारा किसानों से गेहूं की खरीद 1975 रुपये कुन्तल समर्थन मूल्य पर की जाएगी।
  7. सरकार ने गेहूं खरीदने का 55 लाख मीट्रिक टन का टारगेट रखा है।

पात्रता क्या होगी

यदि आप भी इसका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना चाहते है तो इसके लिए आपको इसकी पात्रता पता होनी चाहिए। हम आपको इसकी पात्रता के बारे में बताने जा रहे है जो इस प्रकार से है:

  • आवेदक किसान उत्तर प्रदेश राज्य का मूलनिवासी होना चाहिए।
  • किसान को अपना CBS(कोर बैंकिंग सोलुशन यानि जो बैंक उसी की ब्रांच से कनेक्ट होने की अनुमति देता है और जो ग्राहकों को पैसा जमा, लोन और क्रेडिट करने की सुविधा देता है) बैंक खाता खुलवाना है।
  • पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए आवेदक एक किसान होना चाहिए।
  • वही किसान इसका रजिस्ट्रेशन कर सकते है जिन्हे मार्किट प्राइस के अनुसार अपनी गेहूं की फसल बेचनी होगी।
उत्तरप्रदेश गेहूं खरीद किसान पंजीकरण हेतू आवश्यक दस्तावेज

आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार से है:

आधार कार्ड वोटर ID कार्ड राशन कार्ड
पासपोर्ट साइज फोटो मूलनिवास प्रमाण पत्र रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
बैंक पास बुक भूमि के कागजाद बैंक अकाउंट नंबर व IFSC कोड
जोत बही भूमि या फसल का रकबा(क्षेत्रफल)

गेहूं बेचने के लिए किसानों का पंजीकरण जरुरी

यदि किसान अपनी गेहूं की फसल मार्किट प्राइस के अनुसार बेचना चाहते है तो उन्हें ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अपना पंजीकरण करवाना पड़ेगा। इसके लिए उन्हें साल 2021-22 हेतू रबी(गेहूं) की फसल के लिए उत्तर प्रदेश खाद्य एवं वितरण विभाग की वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण करवाना है या इसके अलावा जनसुविधा केंद्र जाकर पंजीकरण करा सकते है।

ई-पॉप मशीन के जरिये गेहूं खरीद की सुविधा

गेहूं की खरीद के लिए इस बार ई-पॉप (इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ़ पर्चेज) मशीन का उपयोग करेगी। गेहूं खरीदने के लिए कुल 7 संस्थाओं जैसे: FCI, PCU, PCF, SFC आदि को नियुक्त किया गया है सुबह 9 बजे से श्याम 6 बजे तक किसान अपनी गेहूं की फसल को बेच सकता है। इन मशीनो का उपयोग इसलिए किया जा रहा है क्यूंकि इससे किसानो का काम और आसान हो जायेगा उन्हें अपने अंगूठे का थबप्रिंट करके अपनी फसल बेच सकते है। और अगर किसान केंद्र में आने में असमर्थ है तो वह अपने बदले अपने किसी भी परिवार के सदस्य को आधार कार्ड लेकर भेज सकता है लेकिन इसकी जानकारी किसान को पंजीकरण फॉर्म में भरते समय देनी होगी।

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण से सम्बन्धित जरुरी बाते

  • 10 मार्च तक केन्द्रो में मापक यंत्र, जाली का छलना, इलेक्ट्रॉनिक काँटा आदि जैसे गेहू नापने के इंस्ट्रूमेंट सरकार उपलब्ध करवाएगी।
  • किसान को अपना पंजीकरण करते समय जिस खेत में गेहूं की खेती की होगी उसकी पूरी डिटेल्स बतानी होगी।
  • यदि किसान से पंजीकरण करते समय किसी भी प्रकार की गलती होती है तो वह अपने मोबाइल नंबर देकर पंजीकरण फॉर्म में सुधार कर सकता है।
  • आवेदन फॉर्म लॉक करने के पश्चात ही एक्सेप्ट किया जायेगा।
  • यदि किसान 100 कुन्तल गेहू बेचना चाहते है तो उन्हें SDM अधिकारी द्वारा वेरिफिकेशन करवाना है।
  • इस साल पॉप अप मशीन के जरिये किसानो का बायोमेट्रिक थंब प्रिंट से गेहूं की खरीद की जाएगी।
  • यदि कोई किसान केंद्र आने में असमर्थ है तो उसके बदले वह अपने परिवार के नॉमिनी सदस्य को क्रय केंद्र भेज सकता है लेकिन उसके लिए सदस्य के पास स्वयं का आधार कार्ड होना जरुरी है जिसके जरिये उसकी पहचान और प्रमाणीकरण किया जायेगा।
  • पंजीकरण फॉर्म भरते समय भूमि का खसरा, खतौनी नंबर, खेत का क्षेत्र फल सभी जानकारी को सही से भरें।
  • गेहूं की तुरंत बिक्री होने के पश्चात खरीद केंद्र अधिकारी से रसीद जरूर लें।
  • सरकार बटाईदार(SHARECROPPER) से भी इस साल गेहू खरीदेंगे।
  • पंजीकरण फॉर्म सबमिट होने के बाद पंजीकरण संख्या को याद रखे या प्रिंट कर लें।

यूपी गेहूं खरीद किसान रजिस्ट्रेशन से सम्बंधित जरुरी जानकारी

रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको 6 स्टेप्स को फॉलो करना है।

  • स्टेप 1 में आपको पंजीकरण प्रारूप यानि रजिस्ट्रेशन फॉर्मेट का पीडीऍफ़ डाउनलोड करना है और इसका प्रिंट ले लेना है।
  • किसान रजिस्ट्रेशन में गेहूं की फसल हेतू उपयोग की जाने वाली सभी भूमियो की खाता खतौनी व खसरा नंबर, प्लाट, जमीन का क्षेत्रफल, एवं फसल का रकबा, बैंक की सभी डिटेल्स, राजस्व अभिलेखों आदि डिटेल्स देनी होगी।
  • जब आपकी पंजीकरण प्रारूप(REGISTRATION FORMAT) भर जाएगी तब आप स्टेप 2 पंजीकरण प्रपत्र(registration form) पर जाएं।
  • पंजीकरण प्रपत्र के पॉइंट 2 में आपको अपने निकट सम्बन्धी सदस्य की डिटेल्स भरनी है ताकि वह आपकी अनुपस्थिति में जाकर गेहूं विक्रय(बेच) कर सके। पॉइंट 2 वैकल्पिक है।
  • आवेदन फॉर्म रजिस्टर करने के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर दें। अब आप स्टेप 3 के अनुसार रजिस्ट्रेशन ड्राफ्ट से ड्राफ्ट आवेदन प्रिंट कर दें।
  • पंजीकरण ड्राफ्ट को एक बार और अच्छे से देख ले क्यूंकि मोबाइल नंबर द्वारा इसका दोबारा पंजीकरण ड्राफ्ट प्रिंट किया जा सकता है।
  • फॉर्म में सभी चीजों को ध्यान से देख ले और यदि कोई गलती हुई होगी तो आपको स्टेप 4 रजिस्ट्रेशन संशोधन(पंजीकरण फॉर्म में सुधार) पर क्लिक करके मोबाइल नंबर भरके दोबारा सुधार किया जा सकता है।
  • अगर आपके पंजीकरण फॉर्म में किसी भी प्रकार की गलती नहीं होती तो इसके बाद स्टेप 5 पर जाकर पंजीकरण लॉक के ऑप्शन से आवेदन लॉक कर दें।
  • अगर आपका एक बार आवेदन लॉक हो गया तो आप इसमें किसी भी प्रकार से सुधार नहीं कर सकते।
  • आवेदन लॉक होने के बाद आप स्टेप 6 पर रजिस्ट्रेशन फाइनल प्रिंट पर चले जायेंगे और फॉर्म का प्रिंट ले लेंगे।
  • इस साल OTP के आधार पर पंजीकरण किया जायेगा। इसके लिए किसानो को अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर SMS द्वारा प्राप्त OTP(वन टाइम पासवर्ड) को भरना है।
  • यदि किसान 100 कुन्तल से जयादा गेहूं बेचना चाहते है तो उन्हें उपजिलाधिकारी(SDM) से ऑनलाइन सत्यापन करवाना होगा।
  • किसान को अपनी आधार कार्ड नंबर, खसरा खतौनी डिटेल्स, बैंक डिटेल्स: अकाउंट नंबर, IFSC कोड आदि सही से भरें।
  • PFMS(डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के जरिये सुनिश्चित भुगतान बैंक खाते में भेज दिया जायेगा।
  • गेहूं बेचते पंजीयन प्रपत्र, कंप्यूटराइज्ड खतौनी, फोटो पहचान पत्र: जैसे वोटर ID कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक पासबुक के पहला पेज की फोटोकॉपी, और आधार कार्ड लाना अनिवार्य है।
  • जिन किसानों ने वर्ष 2021-22 में धान की खरीद के समय पंजीकरण करा लिया था उन्हें दोबारा पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं होगी उन्हें संशोधन या बिना संशोधन के साथ पुनः लॉक करवाना है।

किसान रजिस्ट्रेशन यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन कैसे करें?

यदि आप भी इसका पंजीकरण करवाना चाहते है और इसका लाभ प्राप्त करना चाहते है तो दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  1. यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण रजिस्ट्रेशन करने के लिए आवेदक को सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश E-क्रय प्रणाली के पोर्टल पर जाना है।
  2. यहाँ आपके सामने इस तरह का होम पेज खुल कर आजायेगा। यूपी गेहूं खरीद किसान रजिस्ट्रेशन
  3. होम पेज पर आपको गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना है। registration for gehu kharid kisan online
  4. क्लिक करते ही आपके समाने नया पेज खुल कर आ जायेगा।
  5. यहाँ आपको इन सभी 6 स्टेप्स को पूरा करना है। उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद हेतू किसान ऑनलाइन पंजीकरण
  6. अब आपको सबसे पहले पंजीकरण प्रपत्र पर क्लिक करना है। panjikaran parkriya up gehun kharid kisan online
  7. जिसके बाद आपके सामने फॉर्म खुल जायेगा।
  8. फॉर्म में आपको अपना मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड को भर देना है। up farmer registration form
  9. अब आप आगे बड़े के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  10. क्लिक करते ही आपके सामने इस तरह का पंजीकरण फॉर्म खुल जायेगा, यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी जैसे: अपना नाम, मोबाइल नंबर, लिंग, पता, पिता-पति का नाम, आधार नंबर, तहसील, जनपद आदि जानकारी भरनी है।
  11. सभी जानकारी भरने के पश्चात अब आप सबमिट बटन पर क्लिक कर दें।

पंजीकरण प्रारूप क्या है?

पंजीकरण प्रारूप एक तरह से रजिस्ट्रेशन फॉर्म का फॉर्मेट है जिसे आप डुप्लीकेट फॉर्म भी बोल सकते है। अगर आप भी पंजीकरण प्रारूप देखना चाहते है तो इसके लिए स्टेप्स को ध्यान से पढ़े।

  • आप आसानी से पंजीकरण प्रारूप देखकर अपना रबी फसल यानि गेहूं को बेचने के लिए एप्लीकेशन फॉर्म को देख सकते है जिसके माध्यम से आप आसानी से अपना पंजीकरण फॉर्म भर पाएंगे।
  • आपको इसके लिए उत्तर प्रदेश E-क्रय पोर्टल पर जाना है।
  • यहाँ आपको होम पेज पर आपको गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करते ही आपके समाने नया पेज खुल कर आजायेगा, यहाँ आप पंजीकरण प्रारूप के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें। पंजीकरण फॉर्मेट देखें गेहूं खरीद किसान ऑनलाइन
  • अब आपको अगले पेज पर रजिस्ट्रेशन फॉर्मेट का पीडीऍफ़ दिखाई देगा जिसे आप डाउनलोड कर सकते है और देख सकते है। up wheat procurement registration format pdf

UP किसान पंजीकरण संशोधन/ड्राफ्ट

यदि अपने रजिस्ट्रेशन करते वक़्त फॉर्म में किसी भी प्रकार की जानकारी गलत भर दी होगी तो आप इसका सुधार कर पाएंगे इसके लिए आपको पंजीकरण संशोधन के ऑप्शन पर जाना है। जिसके बाद आपके सामने नए पेज पर किसान पंजीकरण संशोधन पारपत्र खुल जायेगा। यहाँ आपको अपना मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड को भरना है और इसके बाद आगे बड़े पर क्लिक कर देना है जिसके बाद आपके सामने फॉर्म खुल जायेगा और आप इसमें अपनी गलती को सही कर सकते है।

उत्तर प्रदेश किसान पंजीकरण करेक्शन फॉर्म

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण फॉर्म का प्रिंट कैसे लें?

  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म का प्रिंट लेने के लिए आपको आधिकरिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आप गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद नए पेज पर आप किसान पंजीकरण फॉर्म प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक कर दें। ऑनलाइन किसान रजिस्ट्रेशन फॉर्म प्रिंट
  • क्लिक करने के पश्चात नए पेज पर आप पूछी गयी जानकारी जैसे: किसान पंजीकरण संख्या, अपना मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड को भर दें।up kisan panjikaran form print karein
  • अब आप आगे बड़े के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • जिसके बाद आपके समाने आपके द्वारा भरा गया फॉर्म खुल जायेगा इसे आप प्रिंट कर दें।

पोर्टल पर आवेदन लॉक के उपरांत टोकन बनाने की प्रक्रिया

गेहूं की फसल बेचने के लिए आपको रजिस्ट्रेशन करने के साथ साथ टोकन भी बनाना होगा जिससे आपको यह पता चल पायेगा की आपको मंडी में अपनी फसल किस समय और किस दिन लेकर जानी है।

टोकन बनाने के लिए आप लॉक के उपरांत टोकन बनाये के ऑप्शन पर क्लिक करें। क्लिक करते ही आपके सामने नए पेज पर आपको पूछी गयी जानकारी जैसे: किसान पंजीयन ID या मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड को भरना है। आप आपको आगे बड़े के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक कर देना है। जिसके बाद ऑनलाइन टोकन पंजीकरण फॉर्म खुल जायेगा। यह टोकन किसान को उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भी भेज दिया जायेगा। इस टोकन में आपका गेहूं बेचने हेतू समय और दिन निर्धारित किया गया होगा।

उत्तरप्रदेश गेहू खरीद किसान ऑनलाइन टोकन बनाएं

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण से जुड़े प्रश्न/उत्तर

क्या गेहूं बेचने के लिए पंजीकरण करवाना जरुरी है?

जी हां, अगर किसान अपने गेहू मार्किट प्राइस के अनुसार बेचना चाहते है तो उन्हें ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अपना पंजीकरण करवाना पड़ेगा। पंजीकृत किसान ही अपनी गेहूं की फसल को राज्य सरकार व क्रय केन्द्रो में बेच सकेंगे।

2022 में सरकार ने गेहूं की खरीद के लिए समर्थन मूल्य क्या रखा है?

2022 में सरकार ने गेहूं की खरीद के लिए समर्थन मूल्य 1975 रुपये कुन्तल रखा है। जिसके अंतर्गत संस्थाएं गेहूं की खरीद करेगी और 3 दिन के अंदर किसान के खाते में गेहूं का भुगतान कर देगी।

पोर्टल बनाने का उद्देश्य क्या है?

देश में चल रहे लॉकडाउन की वजह से किसान लोगो को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा है उन्हें अपनी फसल को बेचने के लिए बहुत दिक्कते उठानी पड़ी है और वह अपनी फसलों को कम दामों में बेचने पर मजबूर हो गए थे। इसी को देखते हुए सरकार ने ऑनलाइन पोर्टल की शुरुवात की जिसके माध्यम से किसान पंजीकरण करवा कर अपनी फसल समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे।

क्या इस पोर्टल पर अन्य राज्य के किसान भी पंजीकरण कर सकते है?

जी नहीं, इस पोर्टल पर अन्य राज्य के किसान भी पंजीकरण नहीं कर सकते है, केवल उत्तर प्रदेश राज्य के मूलनिवासी किसान ही पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते है।

साल 2022 हेतू सरकार ने गेहूं खरीद हेतु कितने मीट्रिक टन का टारगेट रखा है?

साल 2022 हेतू सरकार ने गेहूं खरीद हेतु 55 लाख मीट्रिक टन का टारगेट रखा है।

गेहूं खरीद हेतू ऑनलाइन आवेदन के लिए क्या करना होगा?

गेहूं खरीद हेतू ऑनलाइन आवेदन के लिए आपको पोर्टल पर जाना होगा और रजिस्ट्रेशन करने के लिए 6 स्टेप्स को पूरा करना होगा जिसके बाद आप अपनी गेहूं की फसल संस्थाओ को समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे।

हमे उम्मीद है की हमारे द्वारा दी UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022 के बारे में जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। यदि इससे सम्बंधित कोई सवाल आपको पूछने है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। हमारी टीम आपके पूछे गए सवालो का जवाब देने की पूरी कोशिश करेगी।



thank you for visiting

Leave a Reply

Your email address will not be published.